17 C
Lucknow

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में पक्के हुए लालू और मुलायम के रिश्ते

उत्तर प्रदेश

सैफई: सैफई में सपा के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के पोते और सांसद तेज प्रताप यादव के शाही तिलक कार्यक्रम में शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए. मुलायम ने प्रधानमंत्री को शॉल भेंट कर उनका स्वागत किया. तेज प्रताप के तिलक कार्यक्रम में कई राजनेताओं व फिल्मी हस्तियों ने भी शिरकत की.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगरा हवाई अड्डे से हेलीकॉप्टर में सवार होकर सुबह 10.15 बजे सैफई पहुंचे, जहां से सड़क मार्ग से तिलक समारोह स्थल पर पहुंचने के बाद मुलायम सिंह यादव व लालू प्रसाद यादव ने उनकी अगवानी की. इस दौरान उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक भी मौजूद थे.

लालू और मुलायम के बीच बैठे मोदी ने यादव परिवार के अन्य सदस्यों के साथ फोटो खिंचवायी और दूल्हे तेज प्रताप पर पंखुड़ियां भी बरसायीं. मंच पर आत्मीयता का ऐसा माहौल था कि मुख्यमंत्री अखिलेश और यादव परिवार के बच्चे एक-एक करके प्रधानमंत्री की गोद में जाकर बैठते रहे और मोदी ने भी उन्होंने दुलारने में कोई कोताही नहीं की. मोदी अपने चिर परिचित अंदाज में हौले से बच्चों के कान पकड़कर उनके प्रति आत्मीयता जाहिर करते रहे. मुलायम सिंह यादव के पौत्र व मैनपुरी के सांसद तेज प्रताप यादव का विवाह राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी राजलक्ष्मी के साथ तय हुआ है.

कभी सपा मुखिया के निकटस्थ रहे पूर्व सांसद अमर सिंह भी तिलकोत्सव समारोह में शामिल हुए. इसके अलावा महानायक अमिताभ बच्चन, उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी तथा उनका परिवार, जनता दल यूनाइटेड के अध्यक्ष शरद यादव, भाजपा सांसद साक्षी महाराज तथा उत्तर प्रदेश मंत्रिमण्डल के अधिकांश मंत्री विशेष रूप से मौजूद रहे.

अतिथियों के लिए देश के अलग-अलग हिस्सों के लोकप्रिय व्यंजन तैयार किए जा रहे हैं. चोखा बाटी, सरसों का साग, मक्के की रोटी, दाल-बाटी का विशेष इंतजाम किया गया है. इसके अलावा डोसा, चाउमीन, राज कचौड़ी, दही बड़ा, चाट, मूंग की दाल का चीला आदि भी भोज के व्यंजनों में शामिल हैं.

तमाम रस्में अदा करने के लिये रंगीन पर्दों, दरीचों और खूबसूरत झाड़ों से सजा भव्य पंडाल तैयार किया गया है जिसमें सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के बड़े भाई के पौत्र और मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप यादव और राष्ट्रीय जनता दल मुखिया लालू प्रसाद यादव की सबसे छोटी बेटी राजलक्ष्मी का तिलक होगा.

मंत्रोच्चारण के बीच तमाम रस्में अदा करने के लिये रंगीन पर्दों, दरीचों और खूबसूरत झाड़ों से सजाये गये भव्य तिलकोत्सव पंडाल में सवा लाख से ज्यादा लोगों ने शिरकत की. मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप यादव की लालू की सबसे छोटी बेटी राजलक्ष्मी से सगाई गत 16 दिसम्बर को हुई थी. दोनों का विवाह आगामी 26 फरवरी को दिल्ली में होगा. लालू यादव ने इस मौके पर कहा ‘मुझे खुशी है कि मेरी बेटी की शादी पूरे देश में चर्चा का विषय हो गयी है. मुलायम सिंह यादव ने शादी के लिये हमसे एक भी पैसा (दहेज) नहीं मांगा, क्योंकि हमारे दिल मिले हैं.’ तिलकोत्सव में प्रधानमंत्री की शिरकत के बारे में पूछे जाने पर तेज प्रताप ने कहा, ‘प्रधानमंत्री की इस यात्रा में कोई राजनीति नहीं है. उन्हें शिष्टाचारवश न्यौता दिया गया था और वह हमें आशीर्वाद देने सैफई आये. इसके लिये हम उनके आभारी हैं. हम मुद्दों के आधार पर उनका विरोध करते हैं, व्यक्तिगत रूप से नहीं.’

विशिष्ट अतिथियों के अलावा चार अतिरिक्त पंडालों में लोगों के लिए खाने की व्यवस्था की गई है. तीन पंडाल पुरुषों के लिए व एक महिलाओं के लिए है. खाना बनाने की व्यवस्था आगरा के माना कैटर्स व टूंडला के ब्रह्मचारी को सौंपी गई है.

जयपुर, लखनऊ और दिल्ली के कारीगर बुलाए गए हैं. तिलक लेकर आये लालू यादव के लिये सैफई स्टेडियम में 300 काटेज बनाये गये हैं और उस परिसर को ‘लालू नगर’ का नाम दिया गया है. खास मेहमानों के लिए वीवीआइपी कॉटेज बनाए गए हैं. जयपुर के कारीगरों द्वारा तैयार किए गए इन कॉटेज में घर जैसी सुविधाएं हैं.

तेजप्रताप के तिलक में शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं. हवाई पट्टी से लेकर सैफई तक के 10 किलोमीटर के दोनों रास्तों पर बैरीकेडिंग की गई है. चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गई है.

राजनीति, सिनेमा तथा कारोबारी दुनिया के दिग्गजों की मौजूदगी में होने वाले तिलकोत्सव की तैयारी पर नजर रखने के लिये मुलायम, शिवपाल और उनके भतीजे धर्मेन्द्र यादव सैफई में मौजूद हैं. कार्यक्रम में करीब डेढ़ लाख लोगों के शरीक होने का अनुमान है. यादव परिवार के सूत्रों के मुताबिक राजनेताओं, सगे-सम्बन्धियों, विभिन्न क्षेत्रों के खास लोगों, पत्रकारों तथा अन्य आमंत्रितों समेत करीब एक लाख लोगों को कार्ड भेजे गए हैं.

बेहद खास मेहमानों की शिरकत के मद्देनजर उनकी सुरक्षा के लिये जबर्दस्त इंतजाम किये गये हैं. हिफाजती बंदोबस्त में आठ पुलिस अधीक्षकों, 15 अपर पुलिस अधीक्षकों, 35 उपाधीक्षकों, 61 थाना प्रभारियों, 300 उपनिरीक्षकों, 1400 आरक्षियों, 11 कम्पनी पीएसी तथा रैपिड एक्शन फोर्स की दो कम्पनियां तैनात की गयी हैं.

Related posts

6 comments

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More