18 C
Lucknow

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव हमेशा इस बात पर जोर देते हैं कि किसान की खुशहाली से ही देश-प्रदेश में खुशहाली आएगी

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता श्री राजेन्द्र चैधरी ने कहा है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मुलायम सिंह यादव हमेशा इस बात पर जोर देते हैं कि किसान की खुशहाली से ही देश-प्रदेश में खुशहाली आएगी। समाजवादी पार्टी भी गांव-खेती और किसान को अपनी प्राथमिकता में रखती है। समाजवादी सरकार बनने पर मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने बजट में 75 प्रतिशत धनराशि कृषि क्षेत्र के लिए रखकर एक सराहनीय काम किया है।

      प्रदेश के सकल राज्य घरेलू उत्पाद में कृषि और कृषि आधारित व्यवसायों का अंश लगभग 30 प्रतिशत है जबकि प्रदेश की लगभग 70 प्रतिशत आबादी इन व्यवसायों पर आजीविका के लिए निर्भर है। खेती, किसानों को सृदृढ़ किया जाना आर्थिक विकास के लिए अति आवश्यक है। किसानों के चैतरफा विकास और कल्याण हेतु मुख्यमंत्री जी ने वर्ष 2015-16 को “किसान वर्ष“ घोषित करने के साथ किसानों को आपदा से राहत दिलाने का भी काम किया है।
      मुख्यमंत्री जी ने प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि से प्रभावित क्षेत्रो में फसलों के नुकसान का आकलन करने के लिए केन्द्र सरकार से शीघ्र ही एक टीम भेजने को कहा है। उन्होने केन्द्र से 744 करोड़ रूपए की तत्काल सहायता दिए जाने की मांग की है। प्रदेश के मुख्य सचिव ने इस बारे में प्रधानमंत्री जी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान भी चर्चा की थी।
      उत्तर प्रदेश में समय-समय पर घटित आपदाओं के संबंध में तेजी से सूचनाएं प्राप्त करने के लिए आईटी बेस्ड मानिटरिंग सिस्टम विकसित किए जाने और नरौरा तथा लखनऊ में इमर्जेन्सी आपरेटिंग सेंटर बनाने का भी निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री जी पहले ही 200 करोड़ रूपए आपदा में मदद के लिए दे चुकी हैं कृषकों की बीमा राशि 5 लाख कर दी गई है। अब इसके अलावा खलिहान, अग्निकांड दुर्घटना सहायता योजना एवं समूह जनता व्यक्तिगत दुर्घटना सहायता योजना की अवधि बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया है।
       मुख्यमंत्री जी चाहते हैं कि किसानों की आय बढ़े क्योंकि तभी उनके घर के साथ राज्य में खुशहाली आएगी। उन्होने कृषि उपज के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए किसानों को पूरी मदद करने का भरोसा दिलाया है। किसानों की उपज को सही बाजार भाव मिले इसके लिए झाॅसी, लखनऊ, इटावा के अलावा कासगंज और कन्नौज में भी किसान बाजार बनाने का काम हो रहा है। इसके लिए 100 करोड़ रूपए का बजट में प्राविधान किया गया है।
        मुख्यमंत्री जी के त्वरित फैसलों की वजह से प्रदेश में किसानों को आपदा से तुरन्त राहत का काम तेजी से हो रहा है। राहत राशि तुरन्त बांटने के आदेश हो गए है। उत्तर प्रदेश को तुरन्त केन्द्रीय मदद की जरूरत है। प्रदेश से निर्वाचित भाजपा के केन्द्रीय मंत्रियों और साॅसदों को इस मामले में मदद में आगे आना चाहिए परन्तु जाने क्यों वे प्रदेश के विकास के मामलों में चुप्पी साधे हुए है। विपक्ष आपदा में फंसे किसानों की मदद के बजाय समाजवादी सरकार का विरोध करने में ही लगा है।

Related posts

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More