14 C
Lucknow

05 लाख रु0 का दुर्घटना बीमा कवर प्रदेश के 90 लाख एम0एस0एम0ई0 उद्यमियों को प्राप्त होगा: सीएम

उत्तर प्रदेश

लखनऊमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश, देश का सर्वाधिक आबादी वाला राज्य है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी की प्रेरणा व मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार द्वारा समाज के प्रत्येक तबके को बिना किसी भेदभाव के शासन की योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है। हाल ही में आयी रिजर्व बैंक तथा नीति आयोग की रिपोर्ट यह बताती है कि उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक निवेश तथा सबसे अधिक घरेलू पर्यटकों को आकर्षित करने वाला राज्य है। यह बैंकों के माध्यम से सबसे अधिक उद्यमियों को सेवाएं उपलब्ध कराने वाला राज्य बन गया है।
मुख्यमंत्री जी आज यहां लोक भवन में विश्व उद्यमिता दिवस के अवसर पर ‘मुख्यमंत्री सूक्ष्म उद्यमी दुर्घटना बीमा योजना’ के शुभारम्भ अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर ‘प्लेज पार्क योजना’ के अन्तर्गत जनपद झांसी, हापुड़ एवं सम्भल में निजी औद्योगिक पार्कों के विकास हेतु विकासकर्ताओं को प्रथम किस्त के रूप में कुल 1,137 लाख रुपये के चेक वितरित किये। उन्होंने प्लेज पार्क विकसित कराने हेतु इन जनपदों के उद्यमियों को प्रेरित करने वाले अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सबसे अधिक पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करने वाला राज्य है। यहां अनेक सम्भावनाएं हैं। प्रदेश में 30 करोड़ श्रद्धालु एवं पर्यटक धार्मिक पर्यटन के लिए आ रहे हैं। यह कार्य निरन्तर आगे बढ़ने चाहिए। प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य की श्रेणी से बाहर कर देश के विकसित राज्यों की ओर अग्रसर किया है। आज प्रदेश के नौजवानों, उद्यमियों तथा नागरिकों के सामने पहचान का संकट नहीं है। इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने अलग-अलग सेक्टर में व्यवस्थित रूप से कार्य किए। उसके परिणाम आज हम सबके सामने हैं।
मुख्यमंत्री जी ने सभी को विश्व उद्यमिता दिवस की बधाई देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश देश व दुनिया में निवेश के सबसे अच्छे गंतव्य के रूप में जाना जा रहा है। इसकी पृष्ठभूमि वर्ष 2018 में तैयार हुई, जब प्रधानमंत्री जी ने उत्तर प्रदेश के पहले इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन किया। उत्तर प्रदेश ने अपने पहले स्थापना दिवस के अवसर पर ‘एक जनपद एक उत्पाद योजना’ (ओ0डी0ओ0पी0) की शुरुआत की थी। पहले एम0एस0एम0ई0 क्षेत्र उपेक्षित था और दम तोड़ रहा था। उद्यमी इस क्षेत्र से पलायन कर रहे थे। उस समय प्रदेश सरकार ने तय किया कि अगर राज्य को औद्योगिक निवेश के सबसे बड़े गंतव्य के रूप में स्थापित करना है, तो हमें अपनी ताकत को पहचानना होगा। हमारी ताकत एम0एस0एम0ई0 क्लस्टर हैं, जो प्रदेश में पहले से ही मौजूद थे। यह हमारी सैकड़ों वर्षों की विरासत थी। विगत 06 वर्षों में राज्य सरकार द्वारा किए गए प्रयासों से कोविड महामारी के बावजूद एम0एस0एम0ई0 इकाइयों ने उत्तर प्रदेश के एक्सपोर्ट को लगभग 03 गुना कर दिया है। आने वाले समय में भारत की अर्थव्यवस्था 05 ट्रिलियन डॉलर की बन जाएगी, इसमें कोई संदेह नहीं है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रदेश के दूसरे स्थापना दिवस के अवसर पर ‘विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना’ प्रारम्भ की गई थी। आज इन दोनों योजनाओं को पूरे देश में मान्यता प्राप्त हुई है। उत्तर प्रदेश में ओ0डी0ओ0पी0 के अन्तर्गत सभी 75 जनपदों के एक-एक उत्पाद चिन्हित किए गए हैं। यह ऐसे उत्पाद हैं जो अपने घर, आंगन तथा स्वयं की जमीन पर आगे बढ़ाए जाते हैं। इनके माध्यम से व्यक्ति स्वावलम्बन का जीवन व्यतीत करते हुए, आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त करता है तथा अन्य लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराता है। हर एम0एस0एम0ई0 यूनिट में 01 से लेकर 10 लोग कार्य करते हैं और अपना जीवन यापन करते हैं। कोरोना कालखण्ड में कुछ राज्यों से हमारे राज्य के कामगार व श्रमिक पलायन करके आए थे। प्रदेश सरकार ने इनकी स्किल मैपिंग कराते हुए राज्य की एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के माध्यम से लगभग 40 लाख श्रमिकों तथा उद्यमियों को प्रदेश में ही कार्य उपलब्ध कराया। इन्होंने उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान की।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह पहली बार हो रहा है जब एम0एस0एम0ई0 विभाग द्वारा निजी औद्योगिक पार्कों को विकसित करने का कार्य किया जा रहा है। कुछ दिनों पूर्व प्रदेश सरकार ने तीन निजी औद्योगिक पार्कों के लिए इंसेंटिव उपलब्ध कराए थे। आज 03 नए निजी औद्योगिक पार्कों को विकसित करने के लिए इंसेंटिव के चेक उपलब्ध कराए जा रहे हैं। 10 से 50 एकड़ भूमि में यह पार्क विकसित होने हैं। पार्क हेतु औद्योगिक भूखण्ड क्रय करने पर शत-प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी की छूट प्रदेश सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जा रही है। औद्योगिक पार्क विकसित करने पर 50 लाख रुपये प्रति एकड़ 01 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से ऋण की व्यवस्था भी प्रदेश सरकार द्वारा की गई है। विकसित होने वाले पार्कों में 75 प्रतिशत भूखण्ड एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के लिए ही आरक्षित होंगे। राज्य सरकार ने तय किया है कि विकसित किए जा रहे औद्योगिक पार्क में भूमि क्रय करने वाले उद्यमियों को स्टाम्प ड्यूटी में 50 प्रतिशत की छूट और एम0एस0एम0ई0 नीति-2022 में अनुमन्य कैपिटल व अन्य सब्सिडी भी उपलब्ध करायी जाएगी। प्रदेश सरकार की यह योजना देश की ऐसी पहली योजना है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज ‘मुख्यमंत्री सूक्ष्म उद्यमी दुर्घटना बीमा योजना’ के रूप में एक और बड़ी योजना प्रदेश में लागू हो रही है। प्रदेश में 96 लाख एम0एस0एम0ई0 इकाइयां हैं। इनमें लगभग 97 प्रतिशत से अधिक इकाइयां सूक्ष्म क्षेत्र की है। यह सेक्टर उत्तर प्रदेश की पहचान है। लगभग 27 लाख सूक्ष्म तथा अति सूक्ष्म उद्यमी पंजीकृत हैं, इस संख्या को और बढ़ाने की आवश्यकता है। जी0एस0टी0 में पंजीकृत व्यापारियों को राज्य सरकार पहले से ही दुर्घटना बीमा योजना का लाभ दे रही है। पहली बार बहुत छोटे उद्यमियों को ‘मुख्यमंत्री सूक्ष्म उद्यमी दुर्घटना बीमा योजना’ से कवर करने का प्रयास हो रहा है। 05 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कवर प्रदेश के 90 लाख एम0एस0एम0ई0 उद्यमियों को प्राप्त होगा। वह उद्यमी अपना रजिस्ट्रेशन तत्काल करवाएं। अगले 01 वर्ष के लिए रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों माध्यमों से होगा।
मुख्यमंत्री जी ने ‘मुख्यमंत्री सूक्ष्म उद्यमी दुर्घटना बीमा योजना’ के शुभारम्भ के अवसर पर इस योजना से लाभान्वित होने वाले सभी 90 लाख एम0एस0एम0ई0 उद्यमियों को बधाई देते हुए उनसे शीघ्र रजिस्ट्रेशन करवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार अपने सभी उद्यमियों, निवेशकों, कारीगरों तथा हस्तशिल्पियों की सुरक्षा के लिए पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। प्रदेश में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अन्तर्गत परम्परागत कारीगरों तथा हस्तशिल्पियों को सम्मान देने का कार्य, उनकी ट्रेनिंग तथा उन्हें टूल किट प्रदान कर आत्मनिर्भर बनाते हुए बापू के ग्राम स्वराज की परिकल्पना को साकार करने का कार्य निरन्तर आगे बढ़ रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज विश्व उद्यमिता दिवस तथा नाग पंचमी का यह अद्भुत संयोग अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं। नाग पंचमी जीव, जन्तु और प्रकृति के प्रति प्रेम तथा अनुराग का पर्व है। आध्यात्मिक दृष्टि से यह हर व्यक्ति के अन्दर छुपी हुई आध्यात्मिक शक्ति का प्रतीक है। उद्यमी इस शक्ति के माध्यम से अपनी कृति को समाज और देश के सामने प्रस्तुत करता है, तो एक सफल उद्यमी के रूप में उसकी गिनती होती है।
मुख्यमंत्री जी ने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे सभी एम0एस0एम0ई0 उद्यमी उत्तर प्रदेश की सम्भावनाओं को देश व दुनिया में आगे बढ़ाने के लिए निरन्तर कार्य करेंगे। इसमें राज्य सरकार अपनी भूमिका निभा रही है। प्रदेश में नए डिजाइनिंग तथा पैकेजिंग इंस्टीट्यूट की स्थापना की दिशा में कार्य किये जा रहे हैं। अब सहारनपुर का वुडेन वर्क, मुरादाबाद की पीतल कारीगरी, फिरोजाबाद का ग्लास उद्योग तथा लखनऊ की चिकनकारी पूरी दुनिया में छा जाएगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश रेवेन्यू सरप्लस स्टेट बन चुका है। यहां एक्सप्रेस-वे, एयरपोर्ट, वॉटर-वे, ग्रामीण क्षेत्रों की कनेक्टिविटी को बेहतर करने, प्रदेश में निवेश के लिए मेडिकल डिवाइस पार्क, फार्मा पार्क, प्लास्टिक पार्क तथा फ्लैटेड फैक्ट्री कॉम्प्लेक्स जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर के बड़े-बड़े कार्य हो रहे हैं। प्रदेश में उत्तर भारत के पहले डेटा सेण्टर का उद्घाटन हो चुका है, और उसने कार्य प्रारम्भ भी कर दिया है। उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी का निर्माण किया जा रहा है। प्रदेश सरकार जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बना रही है। पूर्वांचल तथा बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे संचालित हैं। प्रदेश के पश्चिमी हिस्से को पूर्वी हिस्से से जोड़ने के लिए गंगा एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। यह उत्तर प्रदेश की पहचान बन रहे हैं। उत्तर प्रदेश डिफेंस इण्डस्ट्रियल कॉरिडोर में होने वाले निवेश से बहुत से अवसर सृजित हुए हैं। आज हर व्यक्ति उत्तर प्रदेश में आना चाहता है। उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के साथ ही ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिजनेस’ का माहौल बना है। लोगों के मन में नया विश्वास है।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री राकेश सचान ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के गतिशील नेतृत्व में एम0एस0एम0ई0 क्षेत्र निरन्तर नई ऊंचाइयां प्राप्त कर रहा है। इससे उत्तर प्रदेश आर्थिक रूप से समृद्ध हो रहा है और यहां रोजगार के अनेक अवसरों का सृजन भी हो रहा है। प्रदेश की लगभग 96 लाख एम0एस0एम0ई0 इकाइयां विकास करते हुए मुख्य धारा से जुड़ें, इसके लिए मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में राज्य सरकार निरन्तर कार्य कर रही है।
ज्ञातव्य है कि ‘मुख्यमंत्री सूक्ष्म उद्यमी दुर्घटना बीमा योजना’ के अन्तर्गत सूक्ष्म उद्यमियों को मृत्यु अथवा दुर्घटना से पूर्ण दिव्यांगता की स्थिति में 05 लाख रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी। दुर्घटना में आंशिक रूप से दिव्यांग होने पर दिव्यांगता के प्रतिशत के अनुसार बीमा का लाभ प्राप्त होगा। प्लेज पार्क योजना व्यापक लैण्ड बैंक उपलब्ध कराने की दिशा में प्रदेश सरकार का प्रयास है। जनपद अलीगढ़, सहारनपुर एवं कानपुर देहात में इस योजना के अन्तर्गत प्लेज पार्क हेतु वित्तीय सहायता प्रदान की जा चुकी है। इसी क्रम में आज सम्भल, हापुड़ एवं झांसी जनपदों में प्लेज पार्क की परियोजनाओं हेतु चेक वितरण किया जा रहा है।
इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्र, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 श्री अमित मोहन प्रसाद सहित एम0एस0एम0ई0 विभाग के वरिष्ठ अधिकारी एवं उद्यमी तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More