16 C
Lucknow

एयरटेल ने भारत की पहली रेडकैप तकनीक का किया सफलतापूर्वक परीक्षण

उत्तराखंड

देहरादून: भारती एयरटेल और एरिक्सन ने आज एयरटेल 5जी नेटवर्क पर एरिक्सन के प्री-कमर्शियल रिड्यूस्ड कैपेबिलिटी (रेडकैप) सॉफ्टवेयर के सफलतापूर्वक परीक्षण किया। क्वालकॉम टेक्नोलॉजीज, इंक. के साथ इसके 5जी रेडकैप टेस्ट मॉड्यूल का उपयोग करके 5जी टीडीडी नेटवर्क पर किया गया परीक्षण भारत में रेडकैप के पहले कार्यान्वयन और सत्यापन की पुष्टि करता है।

एरिक्सन रेडकैप एक नया रेडियो एक्सेस नेटवर्क (आरएएन) सॉफ़्टवेयर सॉल्यूशन है जो नए 5जी उपयोग के मामलों को सक्षम बनाता है। यह स्मार्टवॉच, अन्य पहनने योग्य उपकरणों, औद्योगिक सेंसर और एआर/वीआर जैसे उपकरणों को 5जी कनेक्शन से जोड़ा जा सकता है।

रेडकैप 5जी तकनीक के अगले चरण का विकास है जो उन उपयोग के मामलों को पूरा करने के लिए है जो अभी तक वर्तमान न्यू रेडियो (एनआर) विनिर्देशों द्वारा प्रभावी रूप से पूरा नहीं किया जा सकता है। एलटीई डिवाइस श्रेणी 4 की तुलना में, रेडकैप बेहतर लेटेंसी, डिवाइस ऊर्जा दक्षता और स्पेक्ट्रम दक्षता के साथ समान डेटा दरें प्रदान करता है। इसमें एन्हांस्ड पोजिशनिंग और नेटवर्क स्लाइसिंग जैसी 5जी एनआर सुविधाओं को सपोर्ट करने की क्षमता भी है।

परीक्षण के मौके पर भारती एयरटेल के सीटीओ रणदीप सेखों ने बताया एयरटेल में हम ग्राहक अनुभव को बढ़ाने के तरीके खोजने के लिए लगातार अपनी तकनीकी नवाचारों की सीमाओं को आगे बढ़ा रहे हैं। हमारे नेटवर्क पर रेडकैप तकनीक के सफल परीक्षण से स्मार्टवॉच और औद्योगिक सेंसर जैसे उपकरणों के लिए भविष्य के एलओटी ब्रॉडबैंड को अपनाना आसान हो जाएगा।

संदीप हिंगोरानी, हेड ऑफ नेटवर्क सॉल्यूशंस फॉर कस्टमर यूनिट भर्ती एट एरिक्सन ने कहा, एयरटेल जैसे हमारे ग्राहक 5जी द्वारा प्रदान किए जाने वाले अवसरों को प्राप्त करने के लिए नेटवर्क क्षमताओं में लगातार निवेश कर रहे हैं, रेडकैप क्षमताओं का व्यावसायीकरण उन्हें अपने उपभोक्ता व्यवसाय को बढ़ाने और नए उद्योग अनुप्रयोगों को सक्षम करने में मदद करेगा, साथ ही साथ एयरटेल के नेटवर्क प्रदर्शन और ऊर्जा दक्षता को बेहतर बनाएगा।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More