20 C
Lucknow

अमृत वाटिकाओं व शिलाफलकम् की नियमित रूप से की जाय देखभाल: केशव प्रसाद मौर्य

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि मेरी माटी-मेरा देश व हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत ग्राम पंचायतों/अमृत सरोवरो आदि पर स्थापित की गयी अमृत वाटिका व शिलाफलकम् को अविस्मरणीय व चिरस्थायी बनाये जाने के लिए उनकी देखभाल व सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जांय।अमृत वाटिकाओं में लगायें गये पौधों की सुरक्षा हेतु ट्री गार्ड लगवाये जांय तथा यथा आवश्यक बाउन्ड्रीवाल बनवायी जांय। कहा कि अमृत वाटिकाओं व शिलाफलकम्  को इस तरह से देखरेख  की जाय व संवारा जाय कि आजादी के शताब्दी काल में उनका भव्य, दिव्य व आकर्षक स्वरूप दिखे और वह ऐतिहासिक धरोहर जैसी नजर आयें। उन्होंने कहा कि पौधों की सिंचाई आदि की व्यवस्था पहले से ही कर ली जाए। श्री मौर्य मंगलवार को अपने कैम्प कार्यालय 7-कालिदास मार्ग पर आयोजित बैठक में ग्राम्य विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।
बताया गया कि अमृत सरोवरो के निर्माण में उत्तर प्रदेश देश में प्रथम पायदान पर है,और 24245 अमृत सरोवरों का चिन्हांकन कर लिया गया है, 15919 अमृत सरोवरों पर कार्य प्रारंभ करते हुये 13383 सरोवरो का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। उप मुख्यमंत्री ने अमृत सरोवरो के निर्माण में और अधिक तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा है कि जो अमृत सरोवर तैयार हैं, उनकी देखभाल व मेंटीनेंस नियमित रूप से की जाती रहे, बारिस में यदि कहीं सरोवरों में मिट्टी का कटान हो गया है, तो बारिस के बाद सही करा लिया जाए। बैठक में विकास खण्डों में ग्राम विकास अधिकारियों के तैनाती हेतु कलस्टर निर्धारण के बारे में भी सार्थक चर्चा की गयी।
बैठक में अपर मुख्य सचिव, ग्राम्य विकास श्री हिमांशु कुमार, ग्राम्य विकास आयुक्त श्री जीएस  प्रियदर्शी, यूपीआरआरडीए के मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री भानुचंद्र गोस्वामी, राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की मिशन निदेशक श्रीमती सी इंदुमती के अलावा  अन्य उच्च स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More