16 C
Lucknow

एसडीओ के उपभोक्ताओं से न मिलने की शिकायत पर ऊर्जा मंत्री ने जमकर लगाई फटकार

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने तेलीबाग, नीलमथा व हरिहरपुर क्षेत्र की ओवरलोडिंग एवं लो-वोल्टेज की विद्युत समस्याओं के स्थायी समाधान हेतु न्यू उतरेठिया उपकेन्द्र में 10 एमवीए का नया ट्रांसफार्मर शीघ्र लगाने के निर्देश एमडी मध्यांचल को दिया। ऊर्जा मंत्री ने सभी विद्युत कार्मिकों को अपने क्षेत्रों में जाकर उपभोक्ताओं की शिकायतों के त्वरित समाधान के सख्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किसी भी विद्युत कार्मिक की कार्यशैली एवं उपभोक्ताओं से व्यवहार को लेकर शिकायत पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश की विद्युत व्यवस्था को और बेहतर बनाने तथा उपभोक्ताओं की विद्युत आपूर्ति, मीटरिंग, बिलिंग व राजस्व संग्रह में आ रही समस्याओं के समाधान हेतु विद्युत विभाग उपभोक्ताओं के द्वार अभियान चला रहा है।
ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा आज अपराह्न 01ः00 बजे 33/11 के0वी0 विद्युत उपकेन्द्र, न्यू उतरेठिया, लखनऊ का औचक निरीक्षण किया और विद्युत विभाग उपभोक्ताओं के द्वार अभियान के तहत उस क्षेत्र के पिपरौली गांव, साउथ सिटी पहुंचकर उपभोक्ताओं से मिले और उनकी विद्युत समस्याओं, परेशानियों को सुना और शिकायतों के समाधान के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने प्रियदर्शिनी पी0आई0 कॉलेज के आस-पास के उपभोक्ताओं में दुकानदार विनोद सिंह यादव, वाई0पी0 सिंह, शिवेन्द्र कुमार अवस्थी आदि से मुलाकात कर उनकी विद्युत समस्याएं जानी। उपभोक्ताओं ने बताया कि डेढ़ महीने पहले ट्रांसफार्मर में शिकायत आयी थी लेकिन इस समय यहां पर किसी प्रकार की समस्या नहीं है। मंत्री ने उपभोक्ताओं से अपने विद्युत बिलों का समय से भुगतान करने की भी अपील की।
निरीक्षण के दौरान ऊर्जा मंत्री ने उपकेन्द्र में उपस्थित उपभोक्ताओं से भी मुलाकात की। उपभोक्ताओं द्वारा एसडीओ के न मिलने की शिकायत पर ऊर्जा मंत्री ने जमकर फटकार लगायी और कार्य संस्कृति में सुधार के निर्देश दिये। इस दौरान मंत्री ने उपकेन्द्र के लोड पैनल, लागबुक, बिलिंग काउण्टर, शट डाउन के लिए लाल स्टीकर के प्रयोग और ट्रांसफार्मर का निरीक्षण किया। उन्होंने उपकेन्द्र परिसर की साफ-सफाई के सख्त निर्देश दिये। लागबुक की जांच में उन्होंने रात 10ः00 बजे लिये गये शटडाउन की जानकारी ली और निर्देश दिये कि रात में शटडाउन लेने से बचें। उन्होंने अधिशासी अभियंता से उपकेन्द्र द्वारा पोषित फीडरों तथा उपकेन्द्र की अन्य समस्याओं के बारे में जानकारी ली।
ऊर्जा मंत्री ने क्षेत्र के उपभोक्ताओं द्वारा की गयी शिकायतों का फीडबैक जानने के लिए 5 उपभोक्ताओं से फोन पर बात की। इसमें अंकित शर्मा, गौरव, अल्का देवी, रोहित कुशवाहा, आशीष कुमार गुप्ता की लो-वोल्टेज, कनेक्शन लेने, बिल रोकने, तार हटाने, ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि जैसी शिकायतों का उन्होंने मौके पर ही समाधान किया तथा पांच उपभोक्ताओं में ओम प्रकाश त्रिपाठी, अंकित कुमार, हरी जी, अभय सिंह, विनीता यादव की विद्युत कनेक्शन, ओवरलोडिंग, बिल अर्जेस्टमेंट, लो-वोल्टेज की समस्याओं के शीघ्र समाधान के निर्देश दिये।
श्री ए0के0 शर्मा द्वारा उपकेन्द्र से सम्बंधित जानकारी पर अधिशासी अभियंता, नादरगंज दुर्गेश कुमार यादव ने बताया कि यह उपकेन्द्र 33 केवी नादरगंज से पोषित हैं और इसमें 10 एमवीए के दो ट्रांसफार्मर लगे हुए हैं। इसके तहत पांच फीडर नीलमथा, तेलीबाग, सैनिक नगर, मानक रोड, न्यू सरस्वतीपुरम पोषित हैं। इससे 60 हजार उपभोक्ता को बिजली दी जा रही है। 10 हजार स्मार्ट मीटर लगाये गये हैं। बिजनेस प्लान के तहत 124 ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाई गयी। विद्युत विभाग उपभोक्ताओं के द्वार अभियान के तहत साढ़े तीन हजार उपभोक्ता से मिलकर उनकी शिकायतों का समाधान किया गया। अधिशासी अभियंता ने बताया कि यह उपकेन्द्र लो-लैन्ड एरिया में होने से यहां परिसर में जलभराव होता है। ऊर्जा मंत्री ने इस क्षेत्र की लो-वोल्टेज की समस्या के समाधान हेतु ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने तथा ट्रांसफार्मर में अचानक आयी खराबी से निपटने के लिए ट्रॉली ट्रांसफार्मर रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि इस उपकेन्द्र में जलभराव की समस्या का स्थायी समाधान हेतु नाला बनाकर निकाला जायेगा। क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधियों द्वारा कई कालोनियों में बांस-बल्ली की सहायता से की जा रही विद्युत आपूर्ति की शिकायत पर ऊर्जा मंत्री ने बांस-बल्ली को हटाकर स्थायी समाधान के लिए पोल लगाने के कार्यों हेतु प्रयास करने को भी कहा।
ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने विद्युत विभाग उपभोक्ताओं के द्वार अभियान के तहत सभी विद्युत कार्मिकों को अपने कार्य क्षेत्र में जाकर उपभोक्ताओं की शिकायतों के शीघ्र निदान करने के निर्देश दिये। उन्होंने विद्युत विभाग के सेवानिवृत्त कर्मचारियों से भी अपील की कि वे ऊर्जा परिवार के सदस्य होने के नाते अपने क्षेत्र के उपभोक्ताओं की समस्याओं के समाधान के लिए ऊर्जा विभाग की मदद करने में आगे आएं इससे उपभोक्ताओं की शिकायतों के स्थायी समाधान एवं विद्युत के इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि मैं विद्युत परिवार के सदस्य के रूप में आज इस अभियान में प्रतिभागी बना।
ऊर्जा मंत्री ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश सरकार विद्युत सुदृढ़ीकरण के लिए युद्धस्तर पर कार्य कर रही है। आने वाले समय में विद्युत समस्या होना  ऐतिहासिक बन जायेगी। प्रदेश की योगी सरकार ने विद्युत इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए 25 हजार करोड़ रूपये की योजनाओं पर कार्य कर रही। आरडीएसएस योजनाओं के तहत 17 हजार करोड़ रूपये तथा नवसृजित एवं नवविस्तारित निकायों में एक हजार करोड़ रूपये से कार्य कराया जा रहा है। इस समय पूरे प्रदेश में जर्जर लाइनों, खम्भों को बदला जा रहा है। खुली तारों के स्थान पर एबी केबल लगायी जा रही। उपकेन्द्रों और ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि की जा रही, नये उपकेन्द्र भी बनाये जा रहे हैं। लोगों को लो-वोल्टेज, ट्रिपिंग, अनावश्यक शट डाउन की समस्या से न जूझना पड़े, इसके लिए भी कार्य हो रहा है।
निरीक्षण के दौरान एमडी मध्यांचल भवानी सिंह खंगरौत, मुख्य अभियंता लेसा संजय जैन, अधीक्षण अभियंता रामप्रीत प्रसाद, अधिशासी अभियंता लेसा, उप खण्ड अधिकारी राजेश कुमार, अवर अभियंता जितेन्द्र मिश्रा, विधायक प्रतिनिधि व सभासद खरिका श्री के0एन0 सिंह उपस्थित थे।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More