17 C
Lucknow

भारतीय रेलवे 7 अप्रैल 2023 को दिल्ली सफदरजंग से भारत गौरव डीलक्स एसी टूरिस्ट ट्रेन “श्री रामायण यात्रा” शुरू करेगी

देश-विदेश

भारतीय रेलवे ने तीर्थ पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारत गौरव डीलक्स एसी पर्यटन ट्रेन से “श्री रामायण यात्रा” शुरू करने का निर्णय किया है। यह यात्रा 7 अप्रैल 2023 को दिल्ली सफदरजंग रेलवे स्टेशन से शुरू होगी और भगवान श्री राम के जीवन से जुड़े प्रमुख स्थानों की यात्रा करेगी। प्रस्तावित ट्रेन यात्रा आधुनिक सुविधाओं वाली भारत गौरव डीलक्स एसी पर्यटन ट्रेन से शुरू की जाएगी।अब तक 26 भारत गौरव ट्रेनें शुरू की जा चुकी हैं।

अत्‍याधुनिक डीलक्स एसी पर्यटन ट्रेन में दो बढ़िया डाइनिंग रेस्तरां, एक आधुनिक रसोई, कोचों में शॉवर क्यूबिकल्स, सेंसर आधारित वॉशरूम फंक्शन, फुट मसाजर सहित कई अद्भुत विशेषताएं हैं। पूरी तरह से वातानुकूलित ट्रेन दो तरह की रहने की सुविधा प्रदान करती है यानी फर्स्ट एसी और सेकेंड एसी। ट्रेन के प्रत्येक कोच में सीसीटीवी कैमरे और सुरक्षा गार्ड जैसी सुविधाओं को बढ़ाया गया है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002JJ5O.jpg

यह यात्रा 18 दिनों में पूरी होगी। इस ट्रेन का पहला पड़ाव अयोध्या होगा जहां पर्यटक श्री राम जन्मभूमि मंदिर, हनुमान गढ़ीके दर्शन करेंगेऔर सरयूआरती में शामिल होंगे। इसके बाद का पड़ाव नंदीग्राम में भारत मंदिर होगा। अगला पड़ाव बिहार में सीतामढ़ी होगा जहां से पर्यटक सीता जी के जन्म स्थान और राम जानकी मंदिर जनकपुर (नेपाल) का दौराकरेंगेजहां वे सड़क मार्ग से पहुंचेंगे। सीतामढ़ी के बाद, ट्रेन बक्सर रवाना होगी, जहां दर्शनीय स्थलों की यात्रा में रामरेखाघाट, रामेश्वरनाथ मंदिर और उसके बाद पवित्र गंगा में डुबकी शामिल होगी। अगला गंतव्य वाराणसी है जहां पर्यटक काशी विश्वनाथ मंदिर और गलियारे, तुलसी मानस मंदिर और संकट मोचन हनुमान मंदिर के दर्शन करेंगे। यात्रा पूरी होने पर यात्रियों को सड़क मार्ग से प्रयागराज, श्रृंगवेरपुर और चित्रकूट ले जाया जाएगा। वाराणसी, प्रयागराज और चित्रकूट में रात्रि विश्राम की व्यवस्था की जाएगी।

इसके अलावा, ट्रेन का अगला पड़ाव नासिक होगा, जहां त्र्यंबकेश्वर मंदिर और पंचवटी की यात्रा की जाएगी। नासिक के बाद अगला गंतव्य प्राचीन किष्‍किन्‍धा शहर,हम्पीहोगा। यहां श्री हनुमान जन्म स्थान मंदिर और अन्य विरासत और धार्मिक स्थल शामिल होंगे। रामेश्वरम इस ट्रेन यात्रा का अगला गंतव्य होगा। रामनाथस्वामी मंदिर और धनुषकोडी यात्रा का एक हिस्सा हैं। अगला पड़ाव भद्राचलम में है जहाँ सीता राम मंदिर यात्रा का एक हिस्सा होगा। ट्रेन के वापस लौटने से पहले अंतिम पड़ाव नागपुर है। रामटेक किला और मंदिर, जहां माना जाता है कि वनवास के दौरान भगवान राम आराम करने के लिए रुके थे, नागपुर में दर्शनीय स्थल है। ट्रेन अपनी यात्रा के 18 वें दिन वापस दिल्ली लौट आएगी। यात्री संपूर्ण भ्रमण के दौरान लगभग 7500 किलोमीटर की यात्रा करेंगे।

घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार की पहल “देखो अपना देश” और “एक भारत श्रेष्ठ भारत” की तर्ज पर एक विशेष पर्यटक ट्रेन शुरू की गई है। इसमें 2एसी के लिए प्रतिव्‍यक्ति किराया 1,14,065/- रुपये और 1एसीक्लास केबिन के लिए 1,46,545/- रुपये और 1एसी कूपे के लिए 1,68,950/- रुपये है। पैकेज मूल्य में एसी क्लास में ट्रेन यात्रा, एसी होटलों में रहने की व्‍यवस्‍था, सभी भोजन (केवल शाकाहारी), एसी वाहनों में सभी स्थानांतरण और दर्शनीय स्थल, यात्रा बीमा और आईआरसीटीसी टूर मैनेजर आदि की सेवाएं शामिल हैं। दौरे के दौरान सुरक्षित और स्वस्थ यात्रा प्रदान करके सभी आवश्यक स्वास्थ्य सावधानियों का ध्यान रखा जाएगा।

अधिक जानकारी के लिए आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जा सकते हैं: https://www.irctctourism.com और वेब पोर्टल पर पहले आओ पहले पाओ के आधार पर बुकिंग ऑनलाइन उपलब्ध है।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More