अपराध और अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति के साथ कठोरतापूर्वक कार्रवाई करने के निर्देश

उत्तर प्रदेश

लखनऊउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज यहां लाल बहादुर शास्त्री भवन (एनेक्सी) स्थित नव लोकार्पित सी0एम0 डैशबोर्ड कार्यालय से एक अभूतपूर्व पहल के दौरान प्रदेश में पहली बार एक साथ सभी थाना प्रभारियों, सर्किल अफसरों, पुलिस कप्तानों, पुलिस कमिश्नरों, आई0जी0 रेंज व ए0डी0जी0 जोन के साथ संवाद किया। संवाद के दौरान मुख्यमंत्री जी ने अपराध और अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति के साथ कठोरतापूर्वक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अपराधी कितना भी बड़ा क्यों न हो, उसके विरुद्ध नियमानुसार कठोरतम कार्रवाई की जाए।
मुख्यमंत्री जी ने महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए सभी पुलिस कमिश्नरों/कप्तानों को निर्देश दिए हैं कि हर जिला/कमिश्नरेट में महिला थाना प्रभारी के अतिरिक्त एक अन्य थाने का प्रभार भी महिला पुलिस अधिकारी को दिया जाए। उन्होंने कहा कि इन महिला थानेदारों को योग्य और कर्मठ पुलिस कार्मिकों की टीम दी जानी चाहिए। सभी पुलिस कमिश्नरों/कप्तानों को इस आदेश का यथाशीघ्र अनुपालन सुनिश्चित करना होगा।
मुख्यमंत्री जी ने जनवरी, 2023 से अगस्त, 2023 की अवधि में हत्या, दुष्कर्म, लूट, डकैती, धर्म परिवर्तन आदि आपराधिक घटनाओं, उनके पर्दाफाश किये जाने की सक्रियता के साथ-साथ आई0जी0आर0एस0 में प्रदर्शन के आधार पर जिला पुलिस, सर्किल और थानों की रिपोर्ट के साथ लगभग दो दर्जन जनपदों से सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि जनता का हित शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके साथ लापरवाही स्वीकार नहीं की जा सकती। आपराधिक घटनाओं में वृद्धि, चार्जशीट में देरी, निस्तारण में विलम्ब, सम्बन्धित थाने, सर्किल, पुलिस कप्तान की लापरवाही प्रदर्शित करती है। शासन स्तर से हर थाने, सर्किल, जिला, रेंज और ज़ोन की सीधी निगरानी की जा रही है। यदि कहीं लापरवाही/गड़बड़ी की पुष्टि हुई तो न केवल पद से हटाया जाएगा, बल्कि अनिवार्य सेवानिवृत्ति भी दी जाएगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोई भी घटना छोटी नहीं होती, सबसे कुछ न कुछ सीख मिलती है। हर घटना की गम्भीरता को समझें और वरिष्ठ अधिकारी स्वयं मौके पर पहुंचे। थानेदारों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि हर फरियादी को सम्मान दें। उनकी पीड़ा सुनें और यथोचित समाधान प्रदान करें। महिला बीट अधिकारियों के कार्यों की सराहना करते हुये उन्होंने थानेदारों को सप्ताह में एक बार महिला बीट अधिकारी व ग्राम चौकीदार से संवाद करने के लिए प्रेरित किया। बाइक सवार स्टंटबाज, धार्मिक प्रतीक अंकित वाहनों पर कार्रवाई के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री जी ने संवेदनशील क्षेत्रों में सतत् पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने जी0आर0पी0 व सीमावर्ती थानों में योग्य पुलिसकर्मियों की तैनाती के भी निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नारी सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन की दृष्टि से देश भर में सराहे जा रहे ’मिशन शक्ति’ अभियान का अगला चरण आगामी शारदीय नवरात्र के पहले दिन से प्रारम्भ होगा। यह चरण महिलाओं की सुरक्षा व अधिकारों के प्रति जागरूकता की दृष्टि से उपयोगी होगा। इसके तहत, सप्ताह में किसी एक दिवस दो महिला पुलिस कार्मिक, आशा बहनों, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, ए0एन0एम0, बी0सी0 सखी, रोजगार सेवकों आदि के साथ किसी एक ग्राम पंचायत में महिलाओं से संवाद कर उन्हें उनके अधिकारों व उनकी सुरक्षा के लिए सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी देंगी। महिलाओं को 108, 1090, 181 जैसे हेल्पलाइन नम्बरों के बारे में बताया जाए। साथ ही, मौके पर पात्र महिलाओं को पेंशन, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मातृत्व वन्दना योजना जैसी लोककल्याणकारी योजनाओं से आच्छादित किया जाए। संवाद के दौरान मुख्यमंत्री जी ने गौतमबुद्धनगर व सभी 17 नगर निगमों को सेफ सिटी के रूप में व्यवस्थित करने की कार्यवाही 14 अक्टूबर तक पूरी कर लेने के निर्देश भी दिये।
मुख्यमंत्री जी ने विगत 21-25 सितम्बर के बीच जनपद गौतमबुद्धनगर में आयोजित प्रथम यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो और मोटो जी0पी0 भारत 2023 इवेण्ट के सफल आयोजन के लिए स्थानीय प्रशासन की सराहना की। गौतमबुद्धनगर की पुलिस कमिश्नर ने दोनों वैश्विक महत्व के आयोजनों के प्रबंधन के सम्बन्ध में एक प्रस्तुतिकरण भी दिया, जिसे प्रेरक बताते हुए मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार सभी जिलों को उपलब्ध कराया जाएगा। इस अवसर पर प्रयागराज पुलिस कमिश्नरेट द्वारा हाल ही में तकनीक की मदद व अन्तरजनपदीय समन्वय से किये गए अन्तरराज्यीय लूट गिरोह के पर्दाफाश की विस्तृत कार्यवाही के सम्बन्ध में एक प्रस्तुतिकरण दिया गया।
बैठक में पुलिस महानिदेशक श्री विजय कुमार, एस0डी0जी0 (कानून व्यवस्था) श्री प्रशान्त कुमार, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्री सुधीर गर्ग, अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास श्री हिमांशु कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, गृह एवं सूचना श्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य श्री पार्थ सारथी सेन शर्मा, प्रमुख सचिव आई0सी0डी0एस0 श्रीमती वीना कुमारी मीना, प्रमुख सचिव नगर विकास श्री अमृत अभिजात सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More