बिजली विभाग की दुर्व्यवस्था एक पल भी बर्दाश्त नहीं की जायेगी: ए0के0 शर्मा

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने कहा कि उपभोक्ता विद्युत बिल मांग रहे हैं लेकिन विद्युत कार्मिक समय से बिल नहीं उपलब्ध करा पा रहे हैं। इसके लिए उन्होंने सख्त निर्देश दिये कि बिलिंग व्यवस्था को पूरी पारदर्शिता के साथ पटरी पर लाया जाए। जिससे उपभोक्ता समय पर अपना बिल जमा कर सके। इसके लिए सिस्टम को भी पूरी तरह से अपग्रेड किया जाए। उन्होंने कहा कि विद्युत उपभोक्ताओं की समस्याओं को दर किनार करने वाले तथा इनके समाधान में जानबूझकर व्यवधान डालने वाले विद्युत कार्मिकों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। इसमें दलालों से सांठगांठ के सिस्टम को भी खत्म किया जायेगा। उन्होंने कहा कि विद्युत विभाग की ऐसी स्थित बन गई है, जिस डाल पर विद्युत कार्मिक बैठा है उसी डाल को काट रहे हैं। कार्मिकों की थोड़ी सी लापरवाही से उपभोक्ताओं का जीवन नर्क बन रहा है। लोगों को परेशान कर अब मलाई नहीं खाने दी जायेगी। उपभोक्ताओं को लूटने की व्यवस्था को हरहाल में समाप्त किया जायेगा। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि बिजली विभाग की दुर्व्यवस्था को अब एक पल भी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। कार्मिकों की ढुलमुल कार्य संस्कृति एवं दुर्व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा
ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा आज शक्ति भवन में उपभोक्ताओं की शिकायतों के समाधान हेतु ’सम्भव’ की व्यवस्था के तहत महीने के प्रथम बुधवार को वर्चुअल जनसुनवाई कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने शिकायतकर्ताओं से वर्चुअल बात की और सैम्पल के तौर पर 15 शिकायतों का समाधान कराया। शिकायतकर्ताओं ने मंत्री जी कार्यवाही से संतुष्ट होकर उनकी कार्यशैली की प्रशंसा भी की। जनसुनवाई में उन्होंने विजलेंस टीम की गलत कार्यवाही, बिल संसोधन, गलत बिल, क्षतिपूर्ति, कनेक्शन बिच्छेदन, रीडिंग, बिल न आने, स्वीकृत भार को बढ़ाने और फर्जी निजी नलकूप कनेक्शन से संबंधित ’सम्भव’ पोर्टल पर आई। समस्याओं को सुना और समाधार कराया।
ऊर्जा मंत्री ने जनसुनवाई के दौरान हापुड़ जनपद निवासी विवेक कुमार गुप्ता को वाणिज्यिक कनेक्शन देकर 08 महीने बाद भी विद्युत बिल निर्गत न करने पर संबंधित एसडीओ के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार संतकबीरनगर निवासी अयोध्या प्रसार पाण्डेय का विद्युत बिल ज्यादा आने की शिकायत का महीनों तक विद्युत कार्यालयों का चक्कर काटने के बाद भी सुधार न होने तथा पीड़ित के साथ दुर्व्यवहार करने पर संबंधित एसडीओ के खिलाफ जॉच कर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये। पीलीभीत निवासी कुन्दन सिंह को मीटर रीडर राम सिंह द्वारा बार-बार गलत बिल देने पर उसकी सेवायें समाप्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दोषी या दागी पाये गये किसी भी कार्मिक की विभाग में सेवायें न ली जाए। किसी भी समस्या के लिए जिम्मेदार अधिकारी कहीं पर भी हो उसकी जवाबदेही तय कर उसका एप्लीकेशन काल किया जाए, उसे शो काज नोटिस भी दिया जाए। उन्होंने एमडी यूपीपीसीएल को निर्देश दिये कि गलत बिल पर जिम्मेदारों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करें।
श्री ए0के0 शर्मा ने सिद्धार्थनगर निवासी धीरेन्द्र प्रसाद मिश्र की गेहूॅ की फसल विद्युत स्पार्किग के कारण जल जाने पर 13 वर्ष बाद भी जली फसल का मुआवजा न मिलने पर उन्होंने सख्त निर्देश दिये कि बिजली से फसलों के जलने, घरों में आग लगने, पशुओं व व्यक्तियों की करंट से मृत्यु पर मिलने वाले क्षतिपूर्ति को देने में अब किसी भी प्रकार का बिलम्ब नहीं किया जायेगा। उन्होंने लखनऊ निवासी नीरज कुमार शर्मा एवं अलीगढ़ निवासी श्रीमती शकुन्तला देवी को बिलों की वसूली के लिए आरसी निर्गत होने पर कहा कि ऐसी परिस्थितियों के उत्पन्न होने से पहले ही इनका रिव्यू कराया जाए। उन्होंने बांदा जनपद निवासी दीपेश का बिल मीटर रीडिंग के अनुसार न बनने तथा मीटर ज्यादा तेज चलने की शिकायत सही पाये जाने पर संबंधित मीटर कंपनी को नोटिस देने और अन्य उपभोक्ताओं के यहां इस कंपनी के लगे मीटरों की जॉच करने के निर्देश दिये। इसी प्रकार बिजनौर निवासी राहुल गहलौट के निजी नलकूप में आने वाले फर्जी बिल को सुधारने में ढ़ाई वर्ष लगने पर एमडी को संबंधित एसडीओ के कार्यप्रणाली के जांच के निर्देश दिये।
ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि सभी डिस्काम आरडीएसएस, बिजनेस प्लान के तहत कराये जा रहे कार्यों में तेजी लायें जिससे उपभोक्ताओं को आपूर्ति दी जा सके। उन्होंने सभी डिस्काम को कन्ट्रोल रूम, वार रूम बनाकर वारफुटिंग पर कार्य करने को कहा। थोड़ी सी हवा चलने पर बिजली जाने की समस्या को अब दूर करना है। सभी डिस्काम उपभोक्ताओं को न्यू कनेक्शन आर्म्ड केबिल के माध्यम से ही दें। ट्रांसफार्मर के जलने में कमी लाने का प्रयास करंे साथ ही क्षतिग्रस्त ट्रांसफार्मर को समय पर बदलें। कृषि फीडरों को अलग करने की कार्यवाही में तेजी लाई जाए, जिससे कि किसानों को विद्युत आपूर्ति में व्यवधान न हो। उन्होंने निर्देश दिये कि सभी डिस्काम अपने क्षेत्र की केबल एजेंसियों से सम्पर्क कर विद्युत पोल में फैलाये गये तारों की बंचिग कराये, जिससे कि अनावश्यक मकड़जाल से लोगों को असुविधा न हो। उन्होंने पिछले वर्ष से ज्यादा राजस्व प्राप्ति पर अधिकारियों की प्रशंसा की और इसमें और अधिक सुधार हो, इसके निर्देश दिये। उन्होंने सभी डिस्काम में कराये जा रहे कार्यों का व्यापक प्रचार प्रसार कराने को कहा। जिससे कि लोगों को विभाग के कार्यों की जानकारी मिल सके। उन्होंने कहा कि योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए वित्तीय कमी नहीं है। कार्यों में तेजी लाई जाए। पैसो को समय से खर्च करें। हमें हरहाल में उपभोक्ताओं के असंतोष को दूर कर, प्रदेश को निर्वाध, गुणवत्ता युक्त बिजली देना है।
बैठक में चेयरमैन यूपीपीसीएल आशीष कुमार गोयल ओबरा से वर्चुअली प्रतिभाग किया। एमडी उत्पादन एवं पारासरण पी0 गुरूप्रसाद, डीजी बिजलेंस, एमडी यूपीपीसीएल पंकज कुमार बैठक में उपस्थित रहे और सभी डिस्काम के एमडी व उच्च अधिकारी एवं बिलिंग एजेंसियों के अधिकारियों ने वर्चुअली प्रतिभाग किये।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More