14 C
Lucknow

प्रधानमंत्री जी के प्रोत्साहन से इस वर्ष के एशियन गेम्स में भारत ने 107 पदक जीते: सीएम

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि महान चिंतक, विचारक तथा अन्त्योदय के प्रणेता पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी का पूरा जीवन भारतीयता और राष्ट्रीयता के लिए समर्पित था। हमारा सौभाग्य है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी भारत को भारतीयता के अनुरूप विकास की नई ऊंचाइयों के और ले जाने का कार्य कर रहे हैं। इस कार्य के प्रेरक पुरुष पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी हैं।
मुख्यमंत्री जी आज जनपद मथुरा में पं0 दीनदयाल उपाध्याय धाम, नगला चन्द्रभान फरह में आयोजित चार दिवसीय पं0 दीनदयाल उपाध्याय स्मृति जन्मोत्सव मेला का उद्घाटन कर इस अवसर पर आयोजित विराट किसान संगोष्ठी में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने पं0 दीनदयाल उपाध्याय जन्मभूमि स्मारक भवन में द्वीप प्रज्ज्वलन एवं पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने धाम में स्थापित ग्रामोद्योग केन्द्र का भ्रमण कर विभिन्न प्रकार के उत्पादों का अवलोकन किया। उन्होंने औषधि केन्द्र में पंचगव्य से बनायी गयी औषधियों का अवलोकन किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज भारतीय पंचांग तिथि के अनुसार पं0 जी की पावन जयन्ती का कार्यक्रम प्रारम्भ हो रहा है। अंग्रेजी तिथि के अनुसार उनका जन्म दिवस 25 सितम्बर को मनाया जाता है, जबकि हिन्दू पंचांग के अनुसार अश्विन कृष्ण त्रयोदशी को उनका जन्मदिन मनाया जाता है। यह तिथि कल है। इस अवसर पर दो दिवसीय पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्मोत्सव मेले तथा विराट किसान संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है।
उनकी पावन जयंती पर किसान  बंधुओं से जुड़ने का अवसर हमें प्राप्त हो रहा है। किसानों ने अपनी मेहनत से भारत को अन्न के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने का कार्य किया है। हम अपने देश के नागरिकों की आवश्यकताओं की पूर्ति एवं खाद्यान्न के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के साथ-साथ, अतिरिक्त खाद्यान्न को दुनिया के देशों में भी निर्यात कर सके हैं।
मुख्यमंत्री जी ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी की पैतृक जन्मभूमि फरह में आयोजित कार्यक्रम में भारत माता के महान सपूत को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वे कई बार दीनदयाल धाम आ चुके हैं। यह धाम ग्राम स्वराज की परिकल्पना को साकार करने का आदर्श उदाहरण है। यहां वर्कशाॅप चलती हैं, जिनमें गो आधारित कृषि, गोमय से बनने वाली औषधियों तथा आयुर्वेद की दवाओं सहित उत्तम गुणवत्ता की आयुष औषधियों का उत्पादन हो रहा है। उत्तर प्रदेश के आयुष विभाग के साथ समन्वय करते हुए इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाया जाए, तो इन्हें मार्केट भी मिलेगा और मंच भी मिलेगा।
भारतीय परम्परा कहती है ‘सर्वे देवाः स्थिता देहे सर्वदेवमयी हि गौ’, अर्थात सभी देवताओं का निवास गौ माता में है। यहां गौ माता के संरक्षण के लिए गो अनुसंधान केन्द्र कार्य कर रहा है। मुख्यमंत्री जी ने गो संरक्षण के माध्यम से किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए दीनदयाल धाम तथा पं0 दीनदयाल उपाध्याय वेटनरी विश्वविद्यालय के मध्य एम0ओ0यू0 किये जाने का आह्वान किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि समाज व राष्ट्र के लिए ब्रज भूमि ने अनेक महान पुरुषों को जन्म दिया है। इसी ब्रजभूमि में आज से 05 हजार वर्ष पूर्व भगवान श्री कृष्ण ने धर्म, सत्य व न्याय की स्थापना के लिए अवतार लिया था। भगवान श्री कृष्ण द्वारा कुरुक्षेत्र में दिये गये उपदेश आज भी प्रासंगिक हैं, जितने कि उस समय थे। यह भारत की पौराणिक तथा समृद्ध संस्कृति का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है। ब्रजभूमि की रज-रज तथा कण-कण में प्रभु का वास है। ब्रज तीर्थ क्षेत्र विकास परिषद के माध्यम से डबल इंजन की सरकार इस क्षेत्र को नई ऊंचाईयों की ओर ले जाना चाहती है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी कहते थे कि ‘हर हाथ को काम, हर खेत को पानी’। अर्थात सभी नौजवानों को रचनात्मक दिशा मिलनी चाहिए। साथ ही, अन्नदाता किसानों के खेतों को सही समय पर पानी मिल जाए, तो खेत सोना उगलने का काम भी कर सकते हैं। डबल इंजन की सरकार इन्ही मूल्यों को लेकर समर्पित होकर कार्य कर रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मिशन रोजगार के अन्तर्गत युवाओं को सरकारी नौकरी दी जा रही है। उनके लिए रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। डिजिटल इण्डिया, स्टैंड अप इण्डिया, स्टार्टअप इण्डिया, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना एवं मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के माध्यम से राज्य के लाखों नौजवान आज स्वरोजगार के मार्ग पर अग्रसर होकर देश व प्रदेश को आत्म निर्भरता की ओर अग्रसर कर रहे हैं। सरकारी नौकरियों में भेदभाव समाप्त किया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नौजवानों को मुख्यधारा के साथ जोड़ने का कार्य पूरी मजबूती से किया जा रहा है। स्किल डेवलपमेंट के अन्तर्गत स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप पाठयक्रम बनाए जा रहे हैं। आत्म निर्भरता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अनेक कार्यक्रम चल रहे हैं। राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 इसका उदाहरण है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारत को फिर से विश्वगुरु के रूप में स्थापित करने के प्रधानमंत्री जी के विजन का माध्यम बनने वाली है। यह उस सपने को साकार करने जैसा है, जो कभी पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी ने देखा था।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जो धरती माता हमारे पेट भरने का कार्य करती है, उसके स्वास्थ्य की चिन्ता आजादी के बाद कभी नहीं हुई। वर्ष 2014 में श्री नरेन्द्र मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद देश में स्वाॅयल हेल्थ कार्ड की व्यवस्था शुरू हुई। यह पूरे देश में लागू की गयी। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से भी किसानों को जोड़ने का कार्य किया गया। प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत विगत 06 वर्षाें में उत्तर प्रदेश में लगभग 22 लाख हेक्टेयर भूमि को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार के गठन के पश्चात लघु व सीमान्त किसानों के 01 लाख रुपये तक के ऋण माफी कार्यक्रम को आगे बढ़ाया गया था।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी ने कहा था कि आर्थिक समृद्धि का मापन ऊंचाई पर बैठे व्यक्ति से नहीं, बल्कि सबसे निचले पायदान पर बैठे व्यक्ति से किया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री जी ने भारत को समृद्धि के पथ पर अग्रसर करने के लिए गांव, गरीब, किसान, नौजवान, महिलाएं व समाज के वंचित तबके को माध्यम बनाया। आजादी के बाद पहली बार किसानों को फसल की लागत का डेढ़ गुना एम0एस0पी0 उपलब्ध कराया गया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत उत्तर प्रदेश के 02 करोड़ 62 लाख किसानों के खातों में 60 हजार करोड़ रुपये से अधिक धनराशि डी0बी0टी0 के माध्यम से भेजी जा चुकी है। प्रदेश के गन्ना किसानों को अब तक 02 लाख 17 हजार करोड़ रुपये के गन्ना मूल्य का भुगतान किया गया है। जनपद मथुरा में छाता चीनी मिल के पुनरुद्धार कार्यक्रम को सरकार तेजी से आगे बढ़ाने जा रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि मथुरा, वृन्दावन, बरसाना, गोकुल तथा नन्दगांव आदि पवित्र स्थल को तीर्थ क्षेत्र के रूप में विकसित करने की कार्यवाही की जा रही है। निवेश की नई सम्भावनाओं को आगे बढ़ाया जा रहा है। कोसी कला में फूड प्रोसेसिंग का बड़ा केन्द्र गत वर्ष स्थापित हो गया है। जनपद आगरा में आलू प्रोसेसिंग का नया सेण्टर स्थापित होने जा रहा है। यह सभी किसानों के जीवन में व्यापक परिवर्तन का माध्यम बनने जा रहे हैं। हम सभी अन्नदाता किसानों को समृद्धि के लिए तत्परता से कार्य करते हुए संकल्पित हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सभी गांव को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास होने चाहिए। इसके लिए राज्य सरकार द्वारा हर गांव में खेल के मैदान, ओपेन जिम का निर्माण, ब्लाॅक स्तर पर मिनी स्टेडियम का निर्माण, युवक तथा महिला मंगल दल को स्पोटर््स किट उपलब्ध कराने के कार्य किये जा रहे हैं। वैश्विक मंच पर खेल प्रतिभाएं देश की शक्ति व सामथ्र्य का प्रदर्शन करती हैं। पिछले एशियन गेम्स में भारत के खिलाड़ियों ने 70 पदक जीते थे। प्रधानमंत्री जी के प्रोत्साहन  तथा खेलो इण्डिया, फिट इण्डिया मूवमेण्ट तथा सांसद खेलकूद प्रतियोगिताओं के माध्यम से इस वर्ष के एशियन गेम्स में भारत ने 107 पदक जीते हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारत की क ुल आबादी का 16 प्रतिशत उत्तर प्रदेश में निवास करते हंै, लेकिन इस वर्ष के एशियन गेम्स में प्रदेश के खिलाड़ियों ने 25 प्रतिशत पदक जीते हैं। हमें इस दिशा में और अच्छे प्रयासों को आगे बढ़ाना है। इसी प्रयास के दृष्टिगत राज्य सरकार फरह में एक मिनी स्टेडियम बनाये जाने के लिए धनराशि उपलब्ध करायेगी, जिससे यहां के नौजवानों को खेल का प्रशिक्षण मिल सके।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में अनेक कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया जा रहा है। जनपद आगरा में फ्लैटेड फैक्ट्री बन रही है। इसे रेडीमेड गारमेण्ट्स का महत्वपूर्ण पड़ाव बना सकते हैं। दुनिया में वस्त्र उद्योग में बहुत सम्भावनाएं हैं। हमारी आधी आबादी को कार्य की आवश्यकता है। उन्हें उचित प्रशिक्षण तथा तकनीक उपलब्ध करा दी जाए, तो भारत दुनिया में रेडीमेड गारमेण्ट्स का सबसे बड़ा केन्द्र बन सकता है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज भारत दुनिया की आर्थिक महाशक्ति की रूप में स्थापित हो रहा है। एशियन गेम्स में भारत के शानदार प्रदर्शन से पूर्व देश की संसद में नारी शक्ति वंदन अधिनियम पास हुआ है। संसद व विधान सभाओं में 33 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित होंगी। हमें इसके लिए प्रधानमंत्री जी का आभार व्यक्त करना चाहिए। प्रधानमंत्री जी ने उज्ज्वला योजना के माध्यम से देश की 10 करोड़ से अधिक महिलाओं को रसाई गैस के निःशुल्क कनेक्शन उपलब्ध कराकर पहले भी नारी गरिमा में वृद्धि की है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि देश में 12 करोड़ से अधिक घरों में एक-एक शौचालय का निर्माण हुआ है। स्वामित्व योजना के माध्यम से लोगों को जिस जमीन पर उनका घर है, उसका मालिकाना हक मिला है। प्रदेश के 55 लाख गरीबों को 01-01 आवास तथा 06 करोड़ लोगों को 05 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया गया है। ऐसे अनेक कार्यक्रम रचनात्मकता को आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं। कोरोना कालखण्ड में प्रधानमंत्री जी ने देश को यशस्वी नेतृत्व दिया था। उस समय निःशुल्क टेस्ट, उपचार, वैक्सीन के साथ ही, देश के 80 करोड़ लोगों को निःशुल्क राशन की सुविधा दी गयी। आज भी यह व्यवस्था चल रही है। भारत के नागरिकों को 220 करोड़ वैक्सीन की डोजेज लगायी गयीं। दुनिया की सबसे प्रभावी वैक्सीन भारत ने बनायी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि नये भारत के सामथ्र्य से हम सभी को जुड़ना चाहिए। पं0 दीनदयाल जी के सपनों और संकल्पों को साकार करने के लिए डबल इंजन की सरकार बिना भेदभाव के कार्य करेगी।
मुख्यमंत्री जी ने कृषि विभाग द्वारा संचालित प्रमोशन आॅफ एग्रीकल्चरल मैकेनाइजेशन योजना के अन्तर्गत बहोरन फार्मर प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 तथा एम0एस0बी0एल0 फार्मर प्रोड्यूसर कम्पनी लि0 के प्रतिनिधियों को फार्म मशीनरी बैंक हेतु 12-12 लाख रुपये के अनुदान हेतु चाभी वितरण किया। उन्होंने सब मिशन आॅन एग्रीकल्चरल मैकेनाइजेशन योजना के अन्तर्गत श्री राकेश द्वारा स्थापित कस्टम हायरिंग सेण्टर के लिए 04 लाख रुपये का अनुदान हेतु चाभी वितरण किया।
इसके पश्चात, मुख्यमंत्री जी ने श्री कृष्ण जन्मभूमि के गेट नं0-03 पर मथुरा-वृन्दावन विकास प्राधिकरण द्वारा श्रद्धालुओं की सुविधाआंे हेतु क्रय की गई गोल्फ कार्टों का हरी झण्डी दिखाकर शुभारम्भ किया। ज्ञातव्य है कि यह गोल्फ कार्ट श्री बांके बिहारी मन्दिर, वृन्दावन के दर्शन तथा गोवर्धन परिक्रमा मार्ग हेतु संचालित किये जाएंगे। इसके उपरान्त मुख्यमंत्री जी ने श्री कृष्ण जन्मभूमि मन्दिर में विधिवत दर्शन-पूजन किया।

Related posts

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More