19 C
Lucknow

‘मेरा आगरा कैम्पेन’ में आयोजित ‘मेरा आगरा काॅन्टेस्ट’ के विजेताओं को मुख्यमंत्री ने पुरस्कृत किया

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: 14 फरवरी, 2015, मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश सरकार राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कृतसंकल्प है। सम्पूर्ण विश्व में भारत की पहचान ताजमहल से है लेकिन कम लोग ही जानते हैं कि ताजमहल उत्तर प्रदेश में है। इसीलिए दुनिया भर में प्रदेश की ब्रान्ड इमेज मेकिंग के लिए ‘उत्तर प्रदेश-होम आफ द ताज’ अभियान शुरु किया गया है ताकि विश्वभर से पर्यटकों को आकर्षित किया जा सके। राज्य सरकार अधिकाधिक देशी-विदशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विश्वस्तरीय पर्यटक सुविधायें उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री आज आगरा के ताज नेचर वाक के समीप ‘मेरा आगरा कैम्पेन’ के तहत आयोजित ’मेरा आगरा काॅन्टेस्ट’ के विजेताओं को पुरस्कारांे का वितरण करने के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने ‘उत्तर प्रदेश-होम आॅफ द ताज’ की विश्वभर की सफल ब्रान्डिंग हेतु अभियान का शुभारम्भ, ’आगरा लोगो’ का अनावरण तथा सुप्रसिद्ध कलाकार श्री सुदर्शन पटनायक द्वारा निर्मित काले ताजमहल की आकृति का अनावरण भी किया। उन्होंने कहा कि ताजमहल दुनिया को प्रेम और खूबसूरती का अनुपम उपहार है। सदियों से यह देश-विदेश के सैलानियों, कवियों, शायरों, राष्ट्राध्यक्षों के साथ-साथ हर वर्ग के लोगों के लिए प्रेम का प्रतीक बना हुआ है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि आज जबकि समाज में प्रेम और भाईचारे की सख्त जरूरत है। ताजमहल का मोहब्बत और खूबसूरती का पैगाम इस भावना को बढ़ाने वाला है। हम ताजमहल की खूबसूरती की बराबरी तो नहीं कर सकते, परन्तु हमारा यह दायित्व है कि उसकी विरासत को कायम रखें। इसी के मद्देनजर दुनियाभर में मोहब्बत, प्यार व प्रेम की बेमिसाल निशानी ताजमहल को विश्व पटल पर उजागर करने हेतु आज 14 फरवरी का दिन ’ताज डे’ के रूप में मनाया जा रहा है।
श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार ने ताजमहल और आगरा की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए अनेक कार्य किए हैं। इन कार्यों में इनर रिंग रोड, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे, हैरिटेज आर्क आदि के साथ-साथ आगरा के समीपवर्ती ब्रज क्षेत्र एवं बटेश्वर, लायन सफारी को भी आकर्षण के तौर पर विकसित किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनमानस खासतौर पर युवा वर्ग में आगरा और उसकी विरासत के प्रति जागरूकता के लिए ’मेरा आगरा अभियान’ शुरु किया गया है। इस अभियान के तीन लक्ष्य हैं। ताजमहल और आगरा की खूबसूरत विरासत को जनता के सामने पेश करना, जनमानस को आगरा के विकास के प्रति जागरूक बनाना और पर्यटन को बढ़ावा देना।
’मेरा आगरा कैम्पेन’ के तहत विजेताओं को पुरस्कृत करते हुए श्री यादव ने युवा वर्ग का आहवान किया कि वे अपने जीवन के लक्ष्य को निर्धारित कर सच्ची मेहनत, लगन व निष्ठा से कार्य कर मंजिल तक पहंुचें। ‘मेरा आगरा कैम्पेन’ की लगभग 7,000 प्रविष्टियों में से 10 सर्वश्रेष्ठ प्रविष्टियों के विजेताओं को राज्य सरकार की ओर से 12 लाख 50 हजार रुपये के पुरस्कारों का वितरण किया। 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में अमृता मदान को 03 लाख रुपये, तृप्ति श्रीवास्तव को 02 लाख रुपये तथा प्रदीप देवनाथ, बालाजी व अमित रंजना को 01-01 लाख रुपए का पुरस्कार प्रदान किया गया। 18 वर्ष से कम आयु वर्ग में अनुष्का सिंह को 02 लाख रुपये, राहिल कोष्टी को 01 लाख रुपये तथा उसामा जिया खान, प्रीति गुप्ता व रुचि तिवारी को 50-50 हजार रुपये का पुरस्कार दिया गया। इसके अतिरिक्त अखिल थाॅमस, नीलमणि कुमार, विकास कुमार विमल, जिशन कबीर को प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये। इशानी, तिलोतमा, इरा, शुभम तथा इंकित शर्मा को स्काॅलरशिप हेतु चयनित किया गया।
पर्यटन मंत्री श्री ओम प्रकाश सिंह ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘मेरा आगरा कैम्पेन’ के तहत ’मेरा आगरा काॅन्टेस्ट’ भी आयोजित किया गया तथा लोगों से यह जानने की कोशिश की गई कि वे अपने शहर को किस रूप में देखते हैं और कैसा बनाना चाहते हैं। स्लोगन के साथ इस कम्पटीशन में ताज के साथ आगरा की विरासत और संस्कृति को दर्शाया गया। इससे यहां के नागरिकों को अपनी ऐतिहासिक, सांस्कृतिक तथा सामाजिक विरासतों के प्रति जागरूक होने की प्रेरणा मिली और पर्यटन उद्योग की सम्भावनाओं को लोगों के दिमाग में बैठाने में भी सफलता हासिल हुई।
मण्डलायुक्त श्री प्रदीप भटनागर ने अपने स्वागत भाषण में कहा कि शासन-प्रशासन का प्रयास है कि हम आगरा को विश्व के सर्वश्रेष्ठ टूरिस्ट डेस्टीनेशन के रूप में विकसित करें। यदि हम पर्यटकों को उत्तम सुविधाएं देंगे तो राज्य ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित कर सकेगा, इससे पर्यटन उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही, नौजवानों को रोजगार के अवसर भी सुलभ होंगे ।
इस अवसर पर नीदरलैन्ड के उप राजदूत श्री सीस बानसेमा, प्रदेश के स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क पंजीयन, नागरिक सुरक्षा मंत्री श्री राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह, प्राविधिक शिक्षा राज्य मंत्री श्री रामसकल गुर्जर, सांसद श्रीमती डिम्पल यादव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री रामजीलाल सुमन सहित जनप्रतिनिधिगण, प्रशासन एवं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी तथा बड़ी संख्या में अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More