24 C
Lucknow

2017 चुनाव की तैयारी में जुटी सपा

उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बीते 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता पर काबिज़ हुई समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिह यादव ने अपनी पार्टी के सभी नेता और कार्यकर्ता को ये नसीहत दी है कि आने वाले 2017 विधानसभा चुनाव में पूरी तैयारी के साथ जुट जाए| उन्होने खुद ब्लॉक लेवल पर कार्यकर्ताओ से मिलकर पार्टी के अन्दरूनी और बाहरी कामों का जायजा लिया और पार्टी कार्यकर्ताओं को आगे बढ़कर काम करने की सलाह भी दी|

सपा पार्टी के महासचिव अरविन्द सिंह गोप ने भी पार्टी के कार्यकर्ताओ से मिलकर कार्यो का जायजा लिया| इस दौरान उन्होंने सपा की राज्यव्यापी अभियान की नींव भी रखी| उन्होंने बताया गया कि यह अभियान 15 फ़रवरी तक चलेगा| गोप ने कहा है कि सपा द्वारा किये गए कार्यो को जनता तक पहुंचाए| साथ ही जनता की बात को समझा जाये ताकि आने वाने विधानसभा चुनावों में उसका खामियाजा न भुगतना पड़े| सपा मुखिया ने कहा कि 2017 चुनाव में पार्टी का गठन बहुत अहम है| इसके लिए लोगो से जुड़ना बहुत जरूरी है| समाजवादी पार्टी के समय में हुए कार्यो के बारे में लोगो को बताया जा सके |

सपा प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी के द्वारा बयान जारी किया गया है कि इस अभियान से जनता से काफी प्रभावित प्रतिक्रिया मिल रही है | उन्होने बताया कि लोग इस अभियान से काफी बड़ी तादाद में जुड़ रहे है| साथ ही समाजवादी पार्टी के कार्यो की तारीफ भी कर रहे है| उन्होने कहा कि 2017 में दोबारा इतिहास रचने की तैयारी में लग जाये| उन्होंने मंत्रियों को हिदायत देते हुए कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओ की बात को खास तबज्जो दी जाये और उनकी बात को सुना जाये ताकि आने वाले 2017 के विधानसभा चुनाव की रणनीति तैयार की जा सके|

सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने लखनऊ में पार्टी बैठक के दौरान पार्टी के नेता एवं कार्यकर्ताओ को साफ़ निर्देश दिया है कि पार्टी के सभी वरिष्ठ पदाधिकारी एवं मंत्री अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में ज्यादा ध्यान दे ताकि लोगो तक अपनी बात को आसानी से पहुँचाया एवं जोड़ा जा सक| इसके साथ-साथ उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओ से उनके क्षेत्र का हाल जानने की कोशिश की| भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगते हुए उन्होंने कहा की भाजपा सिर्फ साम्प्रदायिकता फैलाती है और समाजवादी पार्टी ही ऐसी सांप्रदायिक ताकतों को जवाब दे सकती है| उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के लिए भारतीय जनता पार्टी कोई चुनौती नहीं है और आने वाले 2017 के विधानसभा चुनावों में फिर से समाजवादी पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ जीत दर्ज करेगी|

2012 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव के रूप में मुख्यमंत्री का युवा चेहरा होने के कारण लोगो को काफी उम्मीदे थी| साथ ही मायावती की सरकार के कुशासन से तंग आकर लोगो ने अपने भविष्य के लिए इस युवा मुख्यमंत्री को चुना ताकि उनकी समस्याओं का समाधान हो सके, लेकिन दिन प्रति दिन समाजवादी पार्टी की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगते रहे हैं| प्रदेश की बिगड़ी क़ानून व्यवस्था, महिलाओं की सुरक्षा और बढ़ते अपराधों की संख्या को लेकर जनता में काफी आक्रोश फैला हुआ है| शायद यही वजह है कि सपा मुखिया अभी से 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारियों में लग गए हैं|

Related posts

5 comments

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More