16 C
Lucknow

अनुदेशक के 1600 रिक्त पदों पर शीघ्र भर्ती, 40 नये औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों की स्थापना

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: दिनांक  15 मार्च, 2015: सचिव व्यवसायिक शिक्षा श्री भुवनेश कुमार ने बताया कि  प्रदेश सरकार द्वारा संचालित राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों की प्रशिक्षण क्षमता में विस्तार के अन्तर्गत कुल 46600 प्रशिक्षण सीटों की वृद्धि का लक्ष्य था, जिसके सापेक्ष अब तक 36360 प्रशिक्षण सीटों की वृद्धि के कार्य को पूर्ण कर लिया गया है तथा अवशेष प्रशिक्षण सीटें नये स्थापित किये जा रहे संस्थानो ंके अन्तर्गत पूरी की जायेगी, जिन्हें आगामी प्रशिक्षण सत्र अगस्त, 2015 से पूर्व पूर्ण कर लिया जायेगा।

श्री कुमार ने बताया कि राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में संचालित व्यवसायों के लिये अनुदेशक के काफी पद भर्ती नियमावली प्रख्यापित न होने के कारण रिक्त चल रहे थे। योग्य अभ्यर्थियों को भरने के लिये अनुदेशक भर्ती नियमावली को संशोधित किया गया तथा नयी नियमावली को सरकार द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी। वर्तमान में नवीन नियमावली के अन्तर्गत साक्षात्कार की कार्यवाही प्रगति पर है, जिसके पूर्ण होने के उपरान्त नये चयनित अनुदेशकों की तैनाती प्रशिक्षण सत्र अगस्त, 2015 के प्रारम्भ होने से पूर्व प्रदान कर दी जायेगी। उन्होंने बताया कि विगत 02 वर्षों में सरकार द्वारा अनुदेशक के लगभग 1600 नये पदों को भी सृजित किया गया है, जिन पर भर्ती की कार्यवाही शीघ्र प्रारम्भ की जायेगी।
सचिव व्यवसायिक शिक्षा ने बताया कि विगत 02 वित्तीय वर्षों में प्रदेश की असेवित तहसीलों /विकास खण्डों में कुल 40 नये राजकीय आई0टी0आई0 संस्थानों की स्थापना की गयी है, जिनके संचालन हेतु भवन का निर्माण कार्य प्रगतिमान है। इसके अतिरिक्त 08 भवन विहीन पूर्व से स्वीकृत व संचालित प्रशिक्षण आई0टी0आई0 के भवन निर्माण के कार्य को भी प्रारम्भ किया गया है। उन्होेंने बताया कि विभाग में कार्यरत अधिकारयिों तथा कार्मिकों को सेवा के दौरान प्रशिक्षित किये जाने के दृष्टिगत राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान अलीगंज, लखनऊ के परिसर में स्थापित किये गये प्रादेशिक स्टाॅफ प्रशिक्षण एवं शोध केन्द्र को पूर्णतः क्रियाशील कर दिया गया है। वर्तमान में इस केन्द्र द्वारा उच्चस्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं।

Related posts

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More