20 C
Lucknow

रायबरेली ट्रेन हादसा: 30 यात्रियों की मौत, 100 से ज्यादा जख्मी

उत्तर प्रदेश

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली में हुए ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़कर 30 हो गई है । डिविजनल कमिश्नर के मुताबिक हादसे में 150 लोगों को चोटें आई हैं, जिनमें से कई की हालत गंभीर बनी हुई है।

उन्होंने आशंका जताई है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है। केंद्र सरकार ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से यह हादसा हुआ। शुक्रवार सुबह रायबरेली के पास बछरावां में अचानक जनता एक्सप्रेस (ट्रेन नंबर 14266) का इंजन और 3 डिब्बे पटरी से उतर गए। इनमें से 2 डिब्बों को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचा है। बोगियां एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गईं, जिससे घायल लोगों को बचाने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। दुर्घटना की खबर फैलते ही आसपास के गांव वाले राहत और बचाव कार्य में जुट गए। दुर्घटना की वजह से लखनऊ-वाराणसी खंड पर रेल ट्रैफिक थम गया। बोगियों को अलग करने के लिए क्रेन लगाई गई है। डिब्बों को काटने के लिए गैस कटर का इंतजाम किया जा रहा है।

हेल्पलाइन नंबर जारी: रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। इन नंबरों पर फोन करके जानकारी हासिल की जा सकती है: रायबरेली 0535-2211224, हरिद्वार 0134-226477, 226479, बरेली 0581-2558161, 2558162, बछरावां 09794845621, देहरादून 0135-2624002, लखनऊ 09794830973, वाराणसी 9542-2503814, प्रतापगढ़ 534-2223830.

ऐसे हुआ हादसा : बताया जा रहा है कि ट्रेन को प्लैटफॉर्म नंबर वन पर रुकना था, लेकिन गलती से ट्रेन उस ट्रैक पर चली गई, जो बंद पड़ा हुआ था। जैसे ही ड्राइवर को इस बात का अहसास हुआ, उसने तुरंत ब्रेक लगा दिया। इस वजह से डिब्बे एक-दूसरे के ऊपर चढ़ गए और पटरी से भी उतर गए। सबसे ज्यादा नुकसान इंजन से आगे वाली बोगी को पहुंचा है।

मुआवजे का ऐलान: रेलवे की ओर से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों के परिजनों को 50-50 हजार रुपये और मामूली घायलों को 20 हजार रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये और जख्मी लोगों को 50 हजार रुपये देने का ऐलान किया है।

घायलों के इलाज के लखनऊ तैयार: गंभीर रूप से घायलों को लखनऊ स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी और संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान भेजा जा रहा है । केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में घायल यात्रियों के समुचित इलाज के लिए जरूरी तैयारियां की गई हैं। घायलों के लिए 150 से ज्यादा बेड तैयार रखे गए हैं। डॉक्टरों की टीम को लेकर लखनऊ से ऐंबुलेंस रवाना की गईं हैं।

जांच के आदेश जारी: रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ए.के. मित्तल और ट्रैफिक मेंबर अजय शुक्ला को घटनास्थल जाने के निर्देश दिए हैं। रेलवे के प्रवक्ता ने बताया कि रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी राहत और बचाव कार्य का मुआयना करने पहुंच रहे हैं। जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं।

Related posts

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More