वित्तीय वर्ष 2015-16 में औद्यानिक फसलों के विकास हेतु 2,81,95,87 लाख रूपये की बजट व्यवस्था

उत्तर प्रदेश
लखनऊ: प्रदेश सरकार ने उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के तहत प्रदेश में फल, शाकभाजी, आलू, मसाले, पुष्प एवं औषधीय फसलों के विकास संबंधी विभिन्न योजनाओं को क्रियान्वित करने के लिए वित्तीय वर्ष 2015-16 में कुल 2,81,95,87 लाख (दो अरब  इक्यासी करोड़ पिन्चानबेे लाख सत्तासी हजार) रूपये की बजट व्यवस्था की है।

उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री पारसनाथ यादव ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2015-16 में एकीकृत बागवानी विकास मिशन, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, औषधीय पौध मिशन तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कृषकों के लिए औद्यानिक विकास कार्यक्रम के तहत कुल 6346 हेक्टेयर क्षेत्र में फलदार बागों का रोपण, 3808 हेक्टेयर क्षेत्र में पुष्प क्षेत्र विस्तार, 6720 हेक्टेयर क्षेत्र के मसाला उत्पादन, 1085 हेक्टेयर क्षेत्र में पुराने बागों का जीर्णोद्धार, 7569 हेक्टेयर क्षेत्र में विगत दो वर्षों में रोपित बागों का अनुरक्षण, 17810 मौनवंश एवं मौनगृहों का वितरण, 6633 हेक्टेयर क्षेत्र में औषधीय पौंधों की खेती संबंधी कार्यक्रम कराया जाना हैं इसके साथ 10293 हेक्टेयर क्षेत्र में उच्च मूल्य की शाकभाजियों का उत्पादन लो-टनल तकनीक के माध्यम से किया जाना प्रस्तावित है।
उद्यान मंत्री ने बताया कि संरक्षित विधि से शाकभाजी एवं पुष्पों के उत्पादन हेतु 407220 वर्ग मी0 क्षेत्र में ग्रीन हाउस एवं शेडनेट हाउस की स्थापना की जायेगी, जिससे नवयुवकों को रोजगार भी मिलेगा।

Related posts

3 comments

Leave a Comment

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More